आपके और आपके परिवार पर कोल्ड्रिंक पिने के हानिकारक प्रभाव.

0
691

कोल्ड ड्रिंक के सेवन के बिना हमारी पार्टी और समारोह अधूरे हैं जो हमारे स्वाद को उत्तेजित करते हैं कोल्ड ड्रिंक्स पीना हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं क्योंकि इन पेय को तैयार करने के लिए अत्यधिक मात्रा में चीनी का उपयोग किया जाता है जिससे कारन मोटापा और मधुमेह होता है। इस तरह के पेय के लगातार सेवन करने से लंबे समय में वजन बढ़ने लगता है और इसका हमारे कार्डियोमेटाबोलिक स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है।

आइए हम कोल्ड ड्रिंक्स पिने के दुष्प्रभावों को समझें:

कोल्ड्रिंक्स पेय की एक कैन में बड़ी मात्रा में चीनी होती है, तरल चीनी के परिणामस्वरूप शरीर में एक इंसुलिन प्रतिक्रिया होती है।

इसमें फॉस्फोरिक एसिड होता है जो कैल्शियम को अवशोषित करने की शरीर की क्षमता के साथ हस्तक्षेप करता है और ऑस्टियोपोरोसिस (एक चिकित्सा स्थिति जिसमें हड्डियां भंगुर हो जाती हैं और ऊतक के नुकसान से नाजुक) हो सकती हैं।

इन पेय में मौजूद चीनी पेट की चर्बी को बढ़ाती है।

ज्यादातर सोडों में कैफीन होता है जो कि कुछ कैंसर, स्तन की गांठ, अनियमित धड़कन, उच्च रक्तचाप और अन्य समस्याओं से जुड़ा होता है।

कैफीन सामग्री की उच्च मात्रा शरीर को निर्जलित करती है और लंबी अवधि में पुरानी निर्जलीकरण का कारण बन सकती है।

हालांकि, जो लोग स्वास्थ्य के प्रति जागरूक हैं, उन्होंने कोल्ड ड्रिंक्स, मीठे पेय पदार्थों के सेवन के दुष्प्रभाव को स्वीकार किया है; शीतल पेय के रूप में भी जाना जाता है।

शोधकर्ताओं ने इन पेय और कार्डियोमेटाबोलिक स्वास्थ्य के बीच लिंक की जांच के लिए अतीत में किए गए अध्ययनों की समीक्षा की। निष्कर्ष ने प्रदर्शित किया कि इन पेय पदार्थों का सेवन न केवल मोटापे को बढ़ावा देता है, बल्कि मधुमेह और हृदय संबंधी बीमारी के विकास के जोखिम को भी बढ़ाता है।

श्री धीरज मलुजकर जी का कहना हैं की कोल्ड्रिंक की जगह पर अगर आप अपने बचो को घर पर बने लस्सी या छाछ का सेवन कराते है तो वो उनकी सरीरिकी प्रगति के लिए लाभ करि है। धीरज मलूजकर जी का कहना हैं की आजा के समय प्रकृति चीजों का सेवन अधिक से अधिक करना चाहिए ये आपके और आपके प्रिय जानो के शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत बनाएग।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here